Indus Valley Civilization | सिंधु घाटी सभ्यता: Harappan Civilization for UPSC in Hindi

Indus Valley Civilization | सिंधु घाटी सभ्यता: Harappan Civilization | हड़प्पा की सभ्यता

Sir जॉन मार्शल, "सिंधु घाटी सभ्यता" शब्द का प्रयोग करने वाले पहले विद्वान थे। सभ्यता 2500 BC-1750 BC के बीच फली-फूली थी ।

Image Credit: By Saqib Qayyum - Own work, CC BY-SA 3.0, https://commons.wikimedia.org/w/index.php?curid=31519718

सिंधु घाटी सभ्यता का भौगोलिक विस्तार

1. विस्तार

सिंधु घाटी सभ्यता पश्चिम में सुतकागंडोर (बलूचिस्तान में) से पूर्व में आलमगीरपुर (पश्चिमी यूपी) तक फैली हुई है; और उत्तर में मांडू (जम्मू) से दक्षिण में दाइमाबाद (अहमदनगर, महाराष्ट्र) तक फैली हुई है।

2. Important Cities | महत्वपूर्ण शहर

City (शहर): हड़प्पा (पाकिस्तान)

  • River (नदी): Ravi River (रवि नदी)
  • पुरातत्व महत्व: 6 अन्न भंडारों की एक पंक्ति, देवी माँ की मूर्तियाँ
City (शहर): मोहनजोदड़ो (पाकिस्तान)

  • River (नदी): Indus River (सिंधु नदी)
  • पुरातत्व महत्व: महान अन्न भंडार, महान स्नानागार, पशुपति महादेव की छवि, दाढ़ी वाले आदमी की छवि और एक महिला नर्तकी की कांस्य छवि

City (शहर): लोथल (गुजरात)

  • River (नदी): Bhogava River (भोगव नदी)
  • पुरातत्व महत्व: बंदरगाह शहर, दोहरा दफन, घोड़े की मूर्तियाँ।
City (शहर): चन्हुदड़ो (पाकिस्तान)

  • River (नदी): Indus River (सिंधु नदी)
  • पुरातत्व महत्व: एक गढ़ के बिना शहर

City (शहर): धोलावीरा (गुजरात)

  • River (नदी): Indus River (सिंधु नदी)
  • पुरातत्व महत्व: शहर को 3 भागों में बांटा गया है।

City (शहर): कालीबंगा (राजस्थान)

  • River (नदी): Ghaggar River (घग्गर  नदी)
  • पुरातत्व महत्व: जोता हुआ खेत

Other Cities (अन्य शहर)

  •  बनवाली (हरियाणा)
  • राखीगढ़ी (हरियाणा)
  • रोपड़ (हरियाणा)
  • मिताथल (हरियाणा)
  • भगतराव (गुजरात)
  • रंगपुर (गुजरात)
  • सुतकागंडोर (पाकिस्तान)
  • सुकोटदा (गुजरात)
  • कोट दीजी (पाकिस्तान)

सिंधु घाटी सभ्यता की Town Planning (नगर नियोजन) और (Structure) संरचना

  • Town Planning (नगर नियोजन) की Grid System (Chess Board) ग्रिड सिस्टम (शतरंज बोर्ड) थी|
  • ईंटों से सजे बाथरूम और सीढ़ी के साथ wells (कुओं ) वाले Rectangular (आयताकार) घर पाए जाते थे |
  • पकी हुई ईंटों का प्रयोग
  • Underground drainage (भूमिगत जल निकासी) की व्यवस्था
  • नगर बड़ी दीवार से घिरे पाए गये 

Agriculture of Indus Valley Civilization | सिंधु घाटी सभ्यता की कृषि

  • हिंडन - कपास - प्रमुख व्यापार - कपास का उत्पादन करने वाले पहले लोग।
  • Rice Husk (चावल की भूसी) के प्रमाण मिले
  • गेहूँ और जौ की खेती प्रमुख रूप से की जाती थी
  • लकड़ी के हल के फाल का उपयोग। उन्हें लोहे के औजारों के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

पशुओं का पालन

  • सिन्धु घाटी के लोग बैल, भैंस, बकरी, भेड़ और सूअर पालतू थे |
  • गधों और ऊंटों का इस्तेमाल बोझ ढोने के रूप में किया जाता था |
  • हाथी और गैंडे के बारे में जानते थे |
  • सुरकोटडा में मिले घोड़े के अवशेष और मोहनजोदड़ो और लोथल में घोड़े के प्रमाण भी मिले हैं। लेकिन सभ्यता अश्व-केंद्रित नहीं थी।

सिंधु घाटी की Technology (प्रौद्योगिकी) और Craft (शिल्प)

  • कांस्य (कॉपर + टिन) उपकरण व्यापक रूप से उपयोग किए जाते हैं
  • पत्थर के औजार प्रचलन में थे
  • कुम्हार के पहिये का उपयोग किया जाता था 
  • काँसे के कारीगर, सुनार, नाव बनाना, ईंट-बिछाना आदि अन्य व्यवसाय आमतौर पर पाए जाते थे।

सिंधु घाटी सभ्यता का व्यापार

  • अन्न भंडार, बाट और माप, मुहरों और एकसमान लिपि की उपस्थिति व्यापार के महत्व को दर्शाती है
  • Barter System (वस्तु विनिमय प्रणाली) व्यापक रूप से प्रचलित थी
  • लोथल, सुतकागेंडोर व्यापार के संचालन के लिए उपयोग किए जाने वाले बंदरगाह शहर थे|
  • Trade Destination (व्यापार स्थल) - अफगानिस्तान, ईरान और मध्य एशिया। मेसोपोटामिया सभ्यता के संपर्क भी देखे जाते थे|

Indus Valley Civilization (सिंधु घाटी सभ्यता) का Political Structure (राजनीतिक संगठन)

  • एक मजबूत केंद्रीय प्राधिकरण के माध्यम से हासिल की गई सांस्कृतिक एकरूपता
  • कोई मंदिर या धार्मिक संरचना नहीं मिली। हड़प्पा पर संभवतः व्यापारी वर्ग का शासन था।
  • हथियार कम ही मिलते हैं।

Indus Valley Civilization (सिंधु घाटी सभ्यता) की (Religious Practices) धार्मिक प्रथाएं

  • मिटटी से बनी देविओं की आकृति।
  • हाथी, बाघ, गैंडा और एक बैल के साथ पाशुपति महादेव की मुहर मिली, जिसके पैरों के पास दो हिरण थे।

सिंधु घाटी सभ्यता में पूजा

  • पीपल के वृक्ष की पूजा पाई गई।
  • एक सींग वाले गेंडा को राइनो के रूप में पहचाना जाता था और कूबड़ वाले बैल की आमतौर पर पूजा की जाती थी।
  • भूतों और बुरी आत्माओं को दूर भगाने के लिए ताबीज का प्रयोग।
  • हड़प्पा संस्कृति में शेर को नहीं जाना जाता था।

Harappan Scripts | हड़प्पा लिपि

  • Harappan Script (हड़प्पा की लिपि) pictographic (चित्रात्मक )प्रकृति की है लेकिन अभी तक समझ में नहीं आई है।
  • वे मुहरों पर दर्ज हैं और उनमें केवल कुछ शब्द हैं
  • Harappan Script (हड़प्पा लिपि) Indian Subcontinent (भारतीय उपमहाद्वीप) की सबसे पुरानी लिपि है|

सिंधु घाटी सभ्यता में Weight (भार) और Measurement (मापन)

  • निजी संपत्ति का लेखा-जोखा रखने, व्यापार और वाणिज्य आदि में शामिल होने के लिए मानकीकृत बाटों और उपायों का उपयोग।
  • वजन 16 के गुणकों में पाए जाते हैं।

सिंधु घाटी सभ्यता के बर्तन

  • पेड़ों और हलकों के विस्तृत डिजाइन के साथ अच्छी तरह से विकसित मिट्टी के बर्तनों की तकनीक।
  • लाल रंग के बर्तनों को काले रंग के डिजाइनों से रंगा गया है।

सिंधु घाटी सभ्यता की Seals (मुहरें)

  • Seals (मुहरों) का उपयोग व्यापार या पूजा के लिए किया जाता था। मुहरों में गुदा हुआ भैंस, बैल, बाघ आदि जानवरों के चित्र पाए गए|

सिंधु घाटी सभ्यता की मूर्ति

  • एक नग्न महिला और दाढ़ी वाले पुरुष की स्टीटाइट प्रतिमा की कांस्य प्रतिमा की खोज|
  • Terracotta (मिट्टी) - आग से पकी हुई मिट्टी
  • खिलौनों या पूजा की वस्तुओं के रूप में उपयोग किया जाता है
  • हड़प्पा में बड़े पैमाने पर पत्थर के काम नहीं पाए गए जो पत्थर से बने खराब विकसित कलात्मक कार्यों को दर्शाता है

सिंधु घाटी सभ्यता की उत्पत्ति, परिपक्वता और अंत

  • हड़प्पा पूर्व की बस्तियाँ - निचली सिंध, बलूचिस्तान और कालीबंगा।
  • परिपक्व हड़प्पा - 1900BC - 2550BC।

Indus Valley Civilization (सिंधु घाटी सभ्यता) के Decline (अंत) का कारण।

  • निकटवर्ती मरुस्थल के विस्तार के कारण बढ़ती लवणता के कारण उर्वरता में कमी।
  • बाढ़ के कारण भूमि के उत्थान का अचानक घट जाना।
  • भूकंप के कारण सिंधु के मार्ग में परिवर्तन आया।
  • हड़प्पा सभ्यता आर्यों के आक्रमण से नष्ट हो गई।

Post Urban Phase (1900BC - 1200BC)

  • उप-सिंधु संस्कृति
  • मुख्य रूप से ताम्रपाषाण
  • उत्तर हड़प्पा सभ्यता में विभिन्न चरणों में अहार संस्कृति, मालवा संस्कृति और जोरवे संस्कृति का विकास।

Frequently Asked Questions (FAQs)

Q. सिंधु घाटी सभ्यता शब्द का प्रयोग करने वाले पहले विद्वान कौन थे?
Ans. Sir जॉन मार्शल ने सिंधु घाटी सभ्यता शब्द का प्रयोग सबसे पहले किया था|

Q. सिंधु घाटी सभ्यता भौगोलिक विस्तार कहाँ तक था ?
Ans. सिंधु घाटी सभ्यता पश्चिम में सुतकागंडोर (बलूचिस्तान में) से पूर्व में आलमगीरपुर (पश्चिमी यूपी) तक फैली हुई है; और उत्तर में मांडू (जम्मू) से दक्षिण में दाइमाबाद (अहमदनगर, महाराष्ट्र) तक फैली हुई है।

Q. सिंधु घाटी सभ्यता की Town Planning (नगर नियोजन) कैसी थी?
Ans. Town Planning (नगर नियोजन) की Grid System (Chess Board) ग्रिड सिस्टम (शतरंज बोर्ड) थी|ईंटों से सजे बाथरूम और सीढ़ी के साथ wells (कुओं ) वाले Rectangular (आयताकार) घर पाए जाते थे |

Post a Comment

Previous Post Next Post